Alienum phaedrum torquatos nec eu, vis detraxit periculis ex, nihil expetendis in mei. Mei an pericula euripidis, hinc partem.
Navlakha Mahal
Udaipur
Monday - Sunday
10:00 - 18:00
       

Test 3

#1. प्रश्न. जो आप स्वयंप्रकाश और सूर्यादि तेजस्वी लोकों का प्रकाश करने वाला है। इससे ईश्वर का यह नाम है।

#2. प्रश्न. जो सब प्राणी और अप्राणिरूप जगत् के भीतर व्यापक होके सबका नियम करता है। इससे परमेश्वर का यह नाम है।

#3. प्रश्न. जो निश्चल अविनाशी है। इससे परमात्मा का यह नाम है।

#4. प्रश्न. जो मनु अर्थात् विज्ञानशील और मानने योग्य है। इससे परमेश्वर का यह नाम है।

#5. प्रश्न. जो बड़ों से भी बड़ा और बड़े आकाशादि ब्रह्माण्डों का स्वामी है। इससे उस परमेश्वर का यह नाम है।

#6. प्रश्न. जो अभय का दाता, सत्यासत्य सर्व विद्याओं का जानने सब सज्जनों की रक्षा करने और दुश्टों को यथायोग्य दण्ड देने वाला है। इससे परमात्मा का यह नाम है।

#7. प्रश्न. जो सब व्यवहारों में व्याप्त और सब व्यवहारों का आधार होके भी, किसी व्यवहार में अपने स्वरूप को नहीं बदलता। इससे ईश्वर का यह नाम है।

#8. प्रश्न. जो षब्द, स्पर्श, रूपादि गुणरहित है। इससे ईश्वर का यह नाम है।

#9. प्रश्न. जिसका सेवन सब जगत्, विद्वान् और योगीजन करते हैं। इससे उस परमात्मा का नाम यह है।

#10. प्रश्न. जिसमें सब आकाशादि भूत वसते हैं और जो सबमें वास कर रहा है, इससे ईश्वर का यह नाम है।

Submit

Your Score

Congratulations, you passed!

Oppss…! Better Luck Next Time